Categories
Uncategorized

Why is Karwachauth celebrated? | क्यों मनाया जाता है करवा चौथ?

Do you know why is KarwaChauth celebrated?
क्या आपको पता है क्यों मनाया जाता है करवा चौथ? और कैसे हुई थी इसकी शुरुआत?

17 अक्टूबर 2019 को करवाचौथ(Karwa Chauth) का त्योहार मनाया जायगा। इस दिन सुहागिनें अपने पति की लंबी उम्र और अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए व्रत रखती हैं और चंद्रमा की पूजा करती हैं। चंद्रमा के साथ- साथ भगवान श्री गणेश, शिव, पार्वती जी, और कार्तिकेय की पूजा भी की जाती है।

यह व्रत कार्तिक माह की चतुर्थी को मनाया जाता है, इसलिए इसे करवा चौथ कहते हैं।

करवा चौथ की कई कथाएं हैं लेकिन इस व्रत की शुरुआत सावित्री ने यमराज से अपने पति के प्राण वापस लाकर की थी। तभी से सभी सुहागिनें अन्न जल त्यागकर अपने पति की लम्बी उम्र के लिए इस व्रत को श्रद्धा के साथ करती हैं।

पौराणिक कथा के अनुसार जब सत्यवान की आत्मा को लेने के लिए यमराज आए तो पतिव्रता सावित्री ने उनसे अपने पति सत्यवान के प्राणों की भीख मांगी और अपने सुहाग को न ले जाने के लिए निवेदन किया।

यमराज के न मानने पर सावित्री ने अन्न-जल त्याग दिया। वो अपने पति के शरीर के पास विलाप करने लगीं। पतिव्रता स्त्री के इस विलाप से यमराज विचलित हो गए, उन्होंने सावित्री से कहा कि अपने पति सत्यवान के जीवन के अतिरिक्त कोई और वर मांग लो।

why is karwachauth celebrated? story of satyavan-savitri
why is karwachauth celebrated? story of satyavan-savitri

सावित्री ने यमराज से कहा कि आप मुझे कई संतानों की मां बनने का वर दें, जिसे यमराज ने हाँ कह दिया। पतिव्रता स्त्री होने के नाते सत्यवान के अतिरिक्त किसी अन्य पुरुष के बारे में सोचना भी सावित्री के लिए संभव नहीं था।

अंत में अपने ही वचन में बंधने के कारण यमराज ने सत्यवान के प्राण लौटा दिए।

Why is KarwaChauth celebrated? कहा जाता है कि तब से स्त्रियां अन्न-जल त्यागकर अपने पति की दीर्घायु की कामना करते हुए करवाचौथ का व्रत रखती हैं।

करवा चौथ का व्रत विधि विधान से अवश्य करें यहाँ विधि भी दी गई है जरूर पढ़ें

परिवार एवं मित्रों के साथ शेयर करें -

Leave a Reply

Your email address will not be published.