Categories
आरती संग्रह

साईं बाबा की आरती | Sai Baba ki Aarti

आरती श्री साईं गुरुवर की परमानन्द सदा सुरवर की।
जाकी कृपा विपुल सुख कारी दुःख शोक संकट भयहारी।।

शिर्डी में अवतार रचाया चमत्कार से तत्व दिखाया।
कितने भक्त शरण में आए वे सुख़ शांति चिरंतन पाए।।

भाव धरे जो मन मैं जैसा साईं का अनुभव हो वैसा।
गुरु को उदी लगावे तन को समाधान लाभत उस तन को।।

साईं नाम सदा जो गावे सो फल जग में साश्वत पावे।
गुरुवार सदा करे पूजा सेवा उस पर कृपा करत गुरु देवा।।

राम कृष्ण हनुमान रूप में दे दर्शन जानत जो मन में।
विविध धरम के सेवक आते दर्शनकर इचित फल पाते।।

जय बोलो साईं बाबा की, जय बोलो अवधूत गुरु की।
साईं की आरती जो कोई गावे घर में बसी सुख़ मंगल पावे।।

अनंत कोटि ब्रह्मांड नायक राजा धिराज योगी राज।
जय जय जय साईं बाबा की।।


कर्पूरगौरं करुणावतारम् | Karpuragauram Karunavtaaram

कर्पूरगौरं करुणावतारम् संसार सारं भुजगेन्द्र हारम् ।
सदा वसंतम, हृदयारविन्दे भवं भवानी संहितम नमामि ।।

परिवार एवं मित्रों के साथ शेयर करें -


पुष्पांजलि अर्पण | Pushpanjali Arpan

सुमुध सुगन्धित सुमन लै, 
सुमन सुभक्ति सुधार,
पुष्पांजलि अर्पण करू, 
देव करो स्वीकार।

परिवार एवं मित्रों के साथ शेयर करें -

ये भी पढ़े:

श्री साईं बाबा के 108 नाम | Sai Baba ke 108 naam

परिवार एवं मित्रों के साथ शेयर करें -

Leave a Reply

Your email address will not be published.