Ravana’s birth secret- क्या आप जानते हैं रावण का जन्म भारत के किस गाँव में हुआ था?

Ravana's birth secret

Ravana’s birth secret: रावण का जन्म बिसरख गाँव में हुआ था जो की उत्तर प्रदेश, ग्रेटर नोएडा से 10 किमी दूर है। स्थानीय लोग यहाँ दशहरा नहीं मनाते।

इस गांव में दशहरा इसलिए नहीं मनाया जाता क्योंकि वे रावण को अपना बेटा मानते हैं

अब जानिए रावण के जन्म की कथा -Ravana’s Birth Secret

पौराणिक कथा के अनुसार माल्यवान, माली और सुमाली नामक तीन दैत्य थे। इन तीनों ने ब्रह्मा जी की घोर तपस्या करके बलशाली होने का वरदान प्राप्त कर लिया और देवताओं, ऋषि-मुनियों पर अत्याचार करने लगे।

ये देखकर सभी देवता भगवान विष्णु के पास गए और दैत्यों से रक्षा करने की विनती की। यह बात सुनकर भगवान विष्णु पृथ्वीं लोक गए और तीनों भाईयों को युद्ध के लिए ललकारा। युद्ध में माली और माल्यवान मारे गए लेकिन सुमाली डरकर पाताल लोक भाग गया।

Ravana's birth secret
Ravana’s Birth Secret- Bisrakh Temple of Ravana

कुछ समय बाद सुमाली ने सोचा क्यों न वह अपनी पुत्री कैकसी का विवाह कुबेर के पिता ऋषि विश्रवा से करा दे। जिससे देवताओं जैसे तेजस्वीं पुत्रों की प्राप्ति हो और वे देवताओं को पराजित करें।

कैकसी ने अपने पिता की आज्ञा का पालन किया और ऋषि विश्रवा से पुत्र प्राप्ति की इच्छा प्रकट की। कैकसी की बात सुनकर ऋषि विश्रवा ने कहा कि

“हे कन्या मैं तुम्हारी यह इच्छा तो पूर्ण कर सकता हूँ। लेकिन तुम बहुत ही अशुभ समय पर आई हो। इसलिए तुम्हें जो भी पुत्र प्राप्त होंगे वह राक्षसी प्रवृति के होंगे।”

यह सुनकर कैकसी ने ऋषि विश्रवा के चरण पकड़ लिए कैकसी के बार- बार विनती करने पर ऋषि विश्रवा ऋषि सहमत हो गए।

कुछ समय के बाद कैकसी ने तीन पुत्र रावण, कुंभकर्ण, विभिषण और पुत्री सूर्पणखा को जन्म दिया। इसी कारण से रावण महाज्ञानी होते हुए भी अत्याचारी और अधर्मी था।

आपने पढ़ा: Ravana’s birth secret. Read More –

https://karmachakra.com/8-immortals-in-hindu-mythology

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *