Categories
आरती संग्रह

Jai Laxmi Mata Aarti | लक्ष्मी जी की आरती

Jai Laxmi Mata Aarti: लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता
तुमको निस दिन सेवत, हर विष्णु विधाता॥ ॐ जय

उमा रमा ब्रम्हाणी, तुम ही जग माता
सूर्य चन्द्र माँ ध्यावत, नारद ऋषि गाता॥ ॐ जय

दुर्गा रूप निरंजनी, सुख-सम्पत्ति दाता।
जो कोई तुम को ध्यावत, ऋद्धि सिद्धि धन पाता॥ ॐ जय

तुम पाताल निवासिनी, तुम ही शुभ दाता
कर्म प्रभाव प्रकाशिनी, भव निधि की दाता॥ ॐ जय

जिस घर में तुम रहती, सब सदगुण आता
सब संभव हो जाता, मन नहीं घबराता॥ ॐ जय

तुम बिन यज्ञ न होवे, वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥ ॐ जय

शुभ गुण मंदिर सुन्दर, क्षीरोदधि जाता
रत्ना चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥ ॐ जय

महा लक्ष्मीजी की आरती, जो कोई नर गाता
उर आनंद समाता, पाप उतर जाता॥ ॐ जय

Pushpanjali Arpan | पुष्पांजलि अर्पण

Karpuragauram Karunavtaaram |कर्पूरगौरं करुणावतारम्

आप पढ़ रहे हैं- Jai Laxmi Mata Aarti: लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में

और भी पढ़ें –
गोवर्धन पूजा की कहानी
Diwali Vrat Katha Hindi: क्यों एक को दरिद्र कर लक्ष्मी जी दूसरे के पास चली जाती हैं?
Diwali Ki Katha: क्यों की जाती है दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन के साथ अन्य देवताओं की पूजन

परिवार एवं मित्रों के साथ शेयर करें -

Leave a Reply

Your email address will not be published.